indore_song_night

इंदौर, (सोशल रिपोर्टर) : बीती रात इंदौर मे एक इतिहास रचा गया और इस इतिहास को रचने की कल्पना की रंग -ए महफ़िल के राजेश अग्रवाल ने, श्रोताओ से खचाखच भरा हुआ डीएवीवी का सभागार इस बात का साक्षी रहेगा , शायद ही ऐसा अद्भुत और अनूठा संगीत आयोजन मध्यभारत मे कही हुआ हो , जिसमे विभिन्न शहरो की कलाकार युवतियो को एक मंच पर इक्कठा कर इतना सुरीला आयोजन हुआ हो, इन सबको सिंक्रोनाइज़ करना एक बहुत कठिन काम रहा होगा पर राजेश अग्रवाल जी की द्रढ़ इच्छा शक्ति से ये सब संभव है। women18 युवतियो की इस ब्रिगेड ने कल सभी श्रोताओ को विस्मृत कर देने वाली चित्रपट संगीत की नायाब प्रस्तुतिया दी ,मंच पर वादन, गायन, संचालन सब कुछ इन युवतियो द्वारा किया गया (सिर्फ पर्दे के पीछे के एक युवक को छोड़कर)।

इस आयोजन मे संगीत की कमान संभाल रखी थी पुणे की दर्शना जोग ने की बोर्ड पर इनका साथ दे रही थी अमृता ठाकुर देसाई,सेक्सोफोन जैसे कठिन वाध्य पर थी एम एस शुभलक्ष्मी, लीड गिटार पर राधिका अंतुरकर, बास गिटार पर रेणु वाड्कर, तबले पर सुलक्षणा फाटक ,देव्यानी मोरे ढोलक और कांगो पर और विनीता जाधव ओक्टोपेड और पूरे जोश के साथ भक्ति कपाड़िया ड्रम बजा रही थी।

लता-आशा के गीतों को स्वर दिया शैलजा सुब्रमण्यम ,प्राजक्ता सातर्डेकर और हमारे शहर की शिफ़ा अंसारी ने कोरस दिया इंदौर की सिमरजीत कौर की टीम ने और संचालन किया इंदौर की शिक्षा शर्मा ने कल शिक्षा शर्मा ने जो संचालन किया वो भी काबिले तारीफ़ था।

गीतों का चयन लाजवाब था
लगभग 6 माह से राजेश भाई इस आयोजन की तैयारी मे लगे थे ,सात दिन पूर्व एक सरकारी आयोजन के चलते हाल उपलब्धि मे व्यवधान भी आया पर सब सरस्वती का आशीर्वाद था और ये आयोजन एक इतिहास रच गया
बधाई रंग -ए महफ़िल, रस भारती की पूरी टीम को।indore_davv_singing_girls_program

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here