मानवता की सेवा का बड़ा नाम ‘मानव मंदिर फाउंडेशन’

0
manav_mandir_foundation

इंदौर: टूटे-फूटे सरकारी स्कूल, गंदा पानी पीने को मजबूर, टूटी हुई फर्श पर बैठने वाले इंदौर के 45 हजार से ज्यादा बच्चों की सुविधा के लिए बना ‘मानव मंदिर फाउंडेशन’ हिंदुस्तान के लिए मिसाल बन गया है।

6 साल पहले समाज सेवी अश्विन झवेरी ने ये तय किया कि शहर के 416 स्कूलों में पढ़ने वाले लगभग 45,500 बच्चों की मदद करे। शुरुआत में प्रतिभा खंडेलवाल, पवन श्रीमाल जैसे कई लोग जुड़ते गए। इन्होने सरकारी स्कूल में लगातार काम करना शुरू किया।Image result for मानव मंदिर फाउंडेशन

via

बच्चों के बैठने के लिए कुर्सी-टेबल बनवाई, टूटे-फूटे स्कूलों की छत ठीक कराई, हर क्लासरूम में एक पंखा और ट्यूबलाइट लगवाई, भोजन के लिए बर्तन उपलब्ध कराए, ब्लैक बोर्ड बनवाए, अलमारियां लगवाई, MYH अस्पताल में डायलिसिस मशीन उपलब्ध कराई। इस तरह से ये फाउंडेशन लगातार काम करता जा रहा है।Image result for मानव मंदिर फाउंडेशन

via

कई लोग इस फाउंडेशन से जुड़ते जा रहे है। अब तक ये फाउंडेशन साढ़े 6 करोड़ रूपये खर्च कर चुका है। संस्थान के मुखिया अश्विन झवेरी बताते है कि ये काम लगातार चलता रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here